Crime

मजनुओं और महिलाओं के प्रति आपराधिक प्रवृति रखने वाले बेड-एलिमेंट्स पर हरियाणा पुलिस का फोकस: पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर

पुलिस महानिदेशक ने पंचकूला में लगाए गए दूसरे पुस्तक मेले की श्रृंखला में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यशाला में बतौर मुख्य अतिथि की शिरकत
महिला सुरक्षा को लेकर हरियाणा में 5750 महिला पुलिसकर्मी तैनात है

सशक्त समाज के निर्माण में महिला सुरक्षा के महत्व पर दिया बल, महिलाओं से इंडिया 112 मोबाइल एप डाउनलोड करने की अपील की

 

महिला सुरक्षा को लेकर तीन मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित कर किया जा रहा है काम
पहला छेड़छाड़ वाले हॉटस्पॉट क्षेत्रो को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाना, दूसरा पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे ऑटो, कैब तथा टैक्सी आदि का डेटाबेस तैयार करते हुए उनमें यूनिक स्टीकर चस्पा करना तथा तीसरा ट्रिप मॉनिटरिंग सिस्टम के माध्यम से महिलाओं की यात्रा को सुरक्षित बनाना।

चंडीगढ़- हरियाणा के पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने आज पंचकूला के सेक्टर-5 स्थित इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में ‘आसमान छूती बेटियां -म्हारी लाडो’ विषय पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यशाला में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। कार्यक्रम में उन्होंने महिला सशक्तिकरण को लेकर हरियाणा पुलिस द्वारा किए जा रहे तीन मुख्य कार्यों के बारे में विस्तार से बताया और सशक्त समाज के निर्माण में महिलाओं की भूमिका पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर अपने विचार रखते हुए पुलिस महानिदेशक ने कहा कि महिलाओं को प्रदेश में सुरक्षित वातावरण देने के लिए हरियाणा पुलिस तीन मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित करते हुए कार्य कर रही है । पहला छेड़छाड़ वाले हॉटस्पॉट क्षेत्रो को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाना, दूसरा पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे ऑटो, कैब तथा टैक्सी आदि का डेटाबेस तैयार करते हुए उनमें यूनिक स्टीकर चस्पा करना तथा तीसरा ट्रिप मॉनिटरिंग सिस्टम के माध्यम से महिलाओं की यात्रा को सुरक्षित बनाना।

उन्होंने बताया कि हरियाणा पुलिस में वर्तमान में 5750 महिला पुलिसकर्मी तैनात है और इनके माध्यम से यह जानने का प्रयास किया जा रहा है कि महिलाओं को किन-किन स्थानों पर असुरक्षित महसूस होता है । ऐसे स्थानों की पहचान करते हुए पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाती है और महिला पुलिसकर्मियों को साधारण वेशभूषा में तैनात किया जाता है ताकि मनचले युवकों को सबक सिखाया जा सके। इसके अलावा, हरियाणा पुलिस द्वारा हर जिले में चार-पांच महिला पुलिसकर्मियों को गुरुग्राम में विशेष प्रशिक्षण दिलवाया गया है ताकि महिलाओं में बेहतर कम्युनिकेशन स्किल्स विकसित किए जा सके और शिक्षण संस्थानों तथा वर्क प्लेस पर काम करने वाली महिलाओ से संपर्क करते हुए प्रॉब्लम एरियाज के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके। उन्होंने कार्यशाला में उपस्थित शिक्षण संस्थाओं से आए प्रतिनिधियों, महिला सेल की इंचार्ज तथा आंतरिक शिकायत निवारण समिति के सदस्यों का आवाहन करते हुए कहा कि वे विद्यार्थियों से संपर्क करते हुए ऐसे स्थानो की जानकारी हरियाणा पुलिस को दें जहां पर महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करती हो ताकि उन्हें महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाया जा सके।

इसके साथ ही उन्होंने पब्लिक ट्रांसपोर्ट में लगाए जाने वाले यूनिक आईडी स्टीकरो के बारे में भी जानकारी दी और कहा कि प्रदेश में ऑटो चालकों, कैब ड्राइवरो आदि का नाम, फोटो, मोबाइल नंबर ,पता आदि सहित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी को लेकर डेटाबेस तैयार किया गया है। ये सभी यूनिक कोड स्टीकर पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे ऑटो ,ई रिक्शा आदि पर बाहर तथा अंदर की तरफ लगाए गए हैं। प्रत्येक वाहन की यूनिक आईडी सहित चालक का विवरण इन स्टीकरों पर लिखा गया है। यदि महिलाएं कभी भी खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं तो वे बिना झिझक हेल्पलाइन नंबर- 112 पर फोन करते हुए इसकी जानकारी दे सकती हैं। महिला को जल्द से जल्द पुलिस की सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। इस दौरान उन्होंने महिलाओं का आवाहन करते हुए कहा कि वे अपने-अपने फोन में इंडिया -112 मोबाइल एप जरूर डाउनलोड करें और जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल करें।

इसके साथ ही श्री कपूर ने हरियाणा सरकार द्वारा हाल ही में शुरू किए गए ट्रिप मॉनिटरिंग सिस्टम के बारे में भी जानकारी दी और कहा कि महिलाएं हेल्पलाइन नंबर – 112 पर खुद को पंजीकृत करें और अपनी यात्रा को सुरक्षित बनाएं। उन्होंने कहा कि ट्रिप मॉनिटरिंग सिस्टम के माध्यम से महिलाओं में यात्रा के दौरान सुरक्षा की भावना को बल देने की पहल की गई है। उन्होंने कहा कि जो महिलाएं यात्रा के दौरान खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं वे ट्रिप मॉनिटरिंग सेवा का लाभ जरूर उठाएं। हरियाणा पुलिस द्वारा महिला की यात्रा को ट्रैक किया जाता रहेगा और जब तक महिला अपने गंतव्य तक सुरक्षित नहीं पहुंच जाती तब तक उसकी लोकेशन को ट्रैक किया जाएगा।

श्री कपूर ने कहा कि महिला सुरक्षा एक गंभीर विषय है और हरियाणा पुलिस महिलाओं को सुरक्षित वातावरण देने के लिए वचनबद्ध है । उन्होंने कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही है चाहे वह खेल का मैदान हो या शिक्षा। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार के प्रयासों से लिंगानुपात दर में दिन प्रतिदिन सुधार आया है बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ अभियान के सकारात्मक परिणामो के चलते आज लिंग अनुपात दर का आंकड़ा 920 के पार हो गया है तथा आमजन व प्रदेश सरकार के संगठित प्रयासों से यह आंकड़ा भविष्य में और भी अधिक ऊपर जाएगा।

Online Dainik Bhaskar

Related Articles

Back to top button