राजनीति

**गुरुकुल विश्वभारती भैयापुर लाढ़ौत में 4-5 नवंबर को धूमधाम से मनाया वार्षिक उत्सव: आचार्य हरिदत्त स्वामी

योगानंद शास्त्री पूर्व स्पीकर दिल्ली ने किया गुरूकुल के प्रथम तल का उद्घाटन।

रोहतक l गुरुकुल भैयापुर लाढ़ौत के वार्षिक उत्सव 2023 के अंतिम दिन 5 नवंबर को योगानंद शास्त्री पूर्व स्पीकर दिल्ली ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। उन्होंने यहां पहुंचकर गुरुकुल के बैंड की ध्वनि के साथ गुरुकुल की कक्षाओं के प्रथम तल का दीप प्रजवलित कर उद्घाटन किया और खेल मैदान में गुरुकुल के ब्रह्मचारियों द्वारा नाना प्रकार के प्रदर्शन का अवलोकन किया। बड़ी संख्या में उपस्थित ब्रह्मचारियों के अभिभावकोंऔर आसपास के क्षेत्र के लोगों ने भी इस मनमोहन कार्यक्रम का अवलोकन किया।

 

स्वामी दयानंद सरस्वती की शिक्षाओं और आचार्य बलदेव जी की प्रेरणा से आचार्य हरिदत्त जी ने 23 वर्ष पहले अपनी चार एकड़ भूमि दान कर गुरुकुल भैयापुर लाढ़ौत की स्थापना ,आचार्य बलदेव जी के कर कमल से करवाई थी ।प्रत्येक वर्ष इसमें थोड़ा-थोड़ा करके सुधार और विस्तार होता गया। आज इसने एक भव्य गुरुकुल विश्वभारती का रूप ले लिया है। जिसमें गुरुकुल और आधुनिक शिक्षाओं का संयोजन कर ब्रह्मचर्यों को शिक्षा प्रदान की जाती है। गुरुकुल की शानदार अनुशासन प्रणाली , शिक्षा और खेल पद्धति बहुत सराहनीय है ।खेलों और सेना सेवा कर नाम कमाने में आजकल इस गुरुकुल का नाम बुलंदियों पर है।

आचार्य हरिदास जी ने बताया कि उन्होंने प्रत्येक खेल के लिए अलग-अलग कोच की व्यवस्था की है वहीं बेहतरीन शिक्षा के लिए योग्य शिक्षकों की नियुक्ति की हुई है । यहां की भव्य इमारत ,व्यवस्थित पुस्तकालय ,कक्षालय और होस्टल देखते ही बनते हैं । वार्षिक उत्सव में गुरुकुल की दिखाई झलकियों से स्पष्ट दिखाई पड़ रहा था कि गुरुकुल विश्वभारती शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी है।

इस अवसर समाजसेवी कैप्टन जगवीर मलिक ने आचार्यों के साथ मिलकर गुरूकुल में पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर आचार्य आर्यवेश,आचार्य धर्मवीर मुंमुक्षु, संस्थापक और संचालक आचार्य हरिदत्त, आचार्य नंदकिशोर, आचार्य रामपाल शास्त्री ,योगगुरु दया। आर्य, देशवाल खाप प्रधान चौधरी शिवधन देशवाल सर्वखाप प्रवक्ता कैप्टन जगबीर मलिक सहित दर्जनों गणमान्य व्यक्ति सैकड़ो अभिभावक और ब्रह्मचारी समारोह में उपस्थित रहे।

Online Dainik Bhaskar

Related Articles

Back to top button