देश-दुनियाराजनीति

मोदी हुए मेहबान : हरियाणा को दी 9770 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात

हरज्ञान चौधरी
                   मुख्य संपादक 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों, खिलाड़ियों और वीरों की धरती हरियाणा को एक बार फिर से 9770 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की बड़ी सौगात दी है। उन्होंने आज देश के 22वें एम्स की घोषणा को मूर्तरूप देते हुए जिला रेवाड़ी के माजरा मुस्तिल भालखी गांव में लगभग 1650 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान का शिलान्यास किया। यह संस्थान हरियाणा में स्वास्थ्य सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण में मील का पत्थर साबित होगा, जो हरियाणावासियों तथा अन्य प्रदेशों के लोगों को उच्च स्तर की आधुनिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएगा।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जिला रेवाड़ी के माजरा मुस्तिल भालखी गांव में लगभग 1650 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान का शिलान्यास किया। जिला रेवाड़ी में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा में रेल तंत्र को और अधिक मजबूती प्रदान करते हुए वर्चुअल माध्यम से 5450 करोड़ रुपये की लागत की गुरुग्राम मेट्रो परियोजना का भी शिलान्यास किया। गुरुग्राम मेट्रो लाइन नये गुरुग्राम को पुराने गुरुग्राम से जोड़ेगी, जिससे यात्रा के समय में बचत होगी। कार्यक्रम में हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री मनोहर लाल सहित अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित रहे।

 

प्रधानमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से ही 470 करोड़ रुपये की लागत से भिवानी-डोभ भाली रेल लाइन, 410 करोड़ रुपये की लागत से मानहेरू-बवानी खेड़ा रेल लाइन, 350 करोड़ रुपये की लागत से रेवाड़ी–काठूवास रेलवे लाइन तथा 310 करोड़ रुपये की लागत से काठूवास-नारनौल रेल लाइन दोहरीकरण परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया। इन लाइनों के दोहरीकरण होने से कनेक्टिविटी बढ़ेगी और यातायात व माल ढुलाई सुगम होगी। प्रधानमंत्री ने 890 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित रोहतक-महम-हांसी नई रेलवे का भी शुभारंभ किया और झंडी दिखाकर इस लाइन पर पहली रेल सेवा की शुरुआत भी की। इस रेल लाइन से हिसार से दिल्ली को सीधी रेल कनेक्टिविटी मिलेगी। इसके अलावा, इस क्षेत्र में औद्योगिक विकास को भी बढ़ावा मिलेगा। रोजगार में बढ़ाातरी के साथ ही सामाजिक एवं आर्थिक प्रगति का भी मार्ग प्रशस्त होगा।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में 240 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित ज्योतिसर अनुभव केंद्र का भी उद्घाटन किया। इस अनुभव केंद्र में महाभारत की कहानी से संबंधित कलात्मक, विषयगत और मल्टीमीडिया कथा प्रदर्शनी की जाएगी। यह संग्रहालय टच इंटरैक्टिव डिस्प्ले, एल.ई.डी दीवारें, प्रोजेक्शन स्क्रीन, इमर्सिव रूम, काइनेटिक्स इंस्टॉलेशन आदि जैसी प्रयोगात्मक तकनीकों के साथ बनाया गया है। इस केंद्र के माध्यम से धर्मक्षेत्र-कुरूक्षेत्र आने वाले तीर्थ यात्रियों को महाभारत से जुड़े प्रसंगों को सजीव रूप से देखने का अवसर मिलेगा। इससे धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसमें प्राचीन भारत से वर्तमान के गौरवशाली भारत की तुलना देखने को मिलेगी, जिससे आने वाली पीढ़िया प्रेरित होगी।

 

उन्होंने हरियाणा की जनता से आने वाले वर्षों में भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए अपना सहयोग देने का आह्वान किया। उन्होंने हरियाणा को अद्भुत संभावनाओं का राज्य बताते हुए कहा कि हरियाणा निवेश के लिए उत्तम राज्य के रूप में उभर रहा है और निवेश बढ़ने से नौकरियों के अवसरों में भी वृद्धि होगी। डबल ईंजन की सरकार विकसित हरियाणा बनाने में जुटी है, जिससे आज की युवा पीढ़ी का भविष्य उज्जवल होने वाला है। टेक्नोलॉजी से टेक्सटाइल और टूरिज्म से ट्रेड तक राज्य में हर क्षेत्र में नए अवसर बढ़ने से युवाओं को रोजगार व स्व रोजगार के अवसर मिल रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2013 में जब भारतीय जनता पार्टी ने मुझे पीएम के उम्मीदवार के रूप में घोषित किया था, तो मेरा पहला कार्यक्रम रेवाड़ी में हुआ था। उस समय रेवाड़ी ने 272 पार का आशीर्वाद दिया था, जो मेरे लिये सिद्धि बन गया। अब जनता कह रही है कि फिर एक बार रेवाड़ी आया हूँ तो आपका आशीर्वाद मिलेगा और अब की बार एनडीए सरकार 400 पार। लोकतंत्र में सीटों के महत्त्व को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि उनके लिए जनता जनार्दन का आशीर्वाद ही सबसे बड़ी पूंजी है। आज पूरी दुनिया में भारत नई ऊँचाई पर पहुंचा है, ये जनता के आशीर्वाद के कारण ही संभव हुआ है। जिस प्रकार आज दुनिया में भारत को सम्मान मिलता है, वह मोदी का सम्मान नहीं, बल्कि हर भारतीय का सम्मान है।

 

भारत का तिरंगा चंद्रमा पर वहाँ पहुंचा, जहाँ कोई नहीं पहुँच सका। पिछले 10 वर्षों में भारत 11 वें नंबर से ऊपर उठकर पांचवें नंबर की आर्थिक महाशक्ति बना है, ये भी जनता के आशीर्वाद से हुआ है और अब अगली टर्म में जनता के आर्शीवाद से भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनाना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विकसित भारत बनाने के लिए हरियाणा का विकसित होना भी बहुत जरूरी है और इसी कड़ी में आज हरियाणा के लिए लगभग 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया है। इन परियोजनाओं में श्री कृष्णा सर्किट योजना के तहत ज्योतिसर में बना अनुभव केंद्र भी शामिल है। यह केंद्र भगवान श्रीकृष्ण के गीता संदेश व हरियाणा की पावन धरा से दुनिया को परिचित कराएगा। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी मोदी की गारंटी का सबसे पहला गवाह है। जब पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में मैंने यहां से देश को कुछ गारंटियां दी थी। उस समय देश की इच्छा थी कि दुनिया में भारत की साख बढ़े, यह हमने करके सिखाया। अयोध्या में प्रभु राम का भव्य मंदिर का निर्माण कराया है, जहां आज प्रभु श्रीराम लला के दर्शन पूरा देश कर रहा है। श्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस के लोग, भगवान राम को काल्पनिक बताते थे, जो कभी नहीं चाहते थे कि अयोध्या में प्रभु राम का मंदिर बने, वे भी आज जय सिया राम बोलने लगे हैं।

वीओ: प्रधानमंत्री ने रेवाड़ी में पूर्व सैनिकों को दी गई वन रैंक वन पेंशन की गारंटी का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने ओआरओपी के लिए 500 करोड़ रुपये का बजट रखकर वन रैंक वन पेंशन लागू करने का झूठ बोलने का काम किया था। हमने सत्ता में आते ही ओआरओपी को लागू किया और अभी तक पूर्व सैनिकों को करीब 1 लाख करोड़ रुपये मिल चूके हैं, जिसमें हरियाणा के भी पूर्व सैनिक लाभान्वित हुए हैं। जिला रेवाड़ी में ही इस योजना के तहत सैनिक परिवारों को 600 करोड़ रुपये से ज्यादा मिले हैं। उन्होंने कहा कि जितना पैसा रेवाड़ी के सैनिक परिवारों को मिला है, कांग्रेस ने उससे भी कम यानि 500 करोड़ रुपये पूरे देश के पूर्व सैनिकों के लिए बजट रखा था। ऐसे ही झूठ व धोखेबाजी के कारण ही कांग्रेस को देश ने नकार दिया। उन्होंने कहा कि आज रेवाड़ी में देश के 22वें एम्स का शिलान्यास किया है और इसका लोकार्पण भी हम ही करेंगे।

 

उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में देश में 15 नये एम्स स्वीकृत किए जा चूके हैं। आजादी के बाद से 2014 तक देश में करीब 380 मेडिकल कॉलेज बने थे, जबकि पिछले 10 वर्षों में 300 से अधिक नए मेडिकल कॉलेज बन चुके हैं। हरियाणा में भी हर जिले में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज बनाने का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में डबल इंजन की सरकार ने गरीब कल्याण की जो भी योजनाएं बनाई हैं, उनको शत प्रतिशत लागू करने में हरियाणा अव्वल है। यहां खेती के क्षेत्र में भी अभूतपूर्व प्रगति हुई है, उद्योगों का दायरा भी निरंतर बढ़ रहा है। दक्षिण हरियाणा को विकास में पीछे रखा गया था, वो आज तेजी से प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रहा है। देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे हरियाणा के गुरुग्राम, पलवल और नूहं जिलों से होकर गुजर रहा है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 से पहले हरियाणा में रेलवे के विकास के लिए हर वर्ष औसतन 300 करोड़ रुपये का बजट मिलता। इस वर्ष के बजट में हरियाणा में रेलवे के लिए करीब 3000 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है। उन्होंने कहा कि दक्षिण हरियाणा के किसानों को पानी की समस्या रहती थी, राज्य सरकार ने इस समस्या के समाधान के लिए भी उल्लेखनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि कपड़ा और परिधान उद्योग में हरियाणा का बड़ा नाम बना है। निर्यात में 35 प्रतिशत कालीन और 20 प्रतिशत परिधान हरियाणा में बन रहा है। दुनिया की सैंकड़ों बड़ी कंपनियां हरियाणा से चल रही हैं और युवाओं को रोजगार मिला है। भारत में निवेश के लिए हरियाणा एक उत्तम राज्य के रूप में उभर रहा है, जिससे नौकरियों के नये अवसर भी बढ़ रहे हैं। डबल ईंजन की सरकार हरियाणा को विकसित राज्य बनाने के लिए काम कर रही है। टेक्नोलॉजी से टेक्सटाइल और टूरिज्म से ट्रेड तक नए अवसर भी बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पारंपरिक कारीगरों के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना चलाई जा रही है, जिसके तहत 13 हजार करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी। इस योजना से इन कारीगरों का जीवन बदलने वाला है।प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी की गारंटी उसके साथ है, जिसके पास गारंटी देने के लिए कुछ भी नहीं हैं। हमने पीएम किसान सम्मान निधि, पीएम स्वनिधि, मुद्रा योजना, उज्जवला योजना व नल से जल जैसी अनेकों योजनाएं चलाकर देशवासियों के जीवन को खुशहाल बनाया है।

Online Dainik Bhaskar

Related Articles

Back to top button