Crime

डीजीपी शत्रुजीत कपूर ने सिरसा के 20 गांवो को नशा मुक्त होने पर किया सम्मानित

हरियाणा में जल्द होगी पुलिस विभाग में भर्तियां: शत्रुजीत कपूर

राजेंद्र कुुमार
सिरसा, 13 जनवरी। हरियाणा सरकार चंद महीनों में पुलिस विभाग में विभिन्न पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगी। सरकार द्वारा पुलिस विभाग के लिए नये नियम फ्रेम किए जा रहे है । इसकी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद युवाओं के लिए पुलिस विभाग में भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। उपरोक्त जानकारी हरियाणा पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने गाँव नरेलखेड़ा में आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरान दी। इससे पहले यहां आयोजित एक समारोह में डीजीपी शत्रुजीत कपूर ने सिरसा के 20 गांव को नशा मुक्त होने पर सम्मान पत्र प्रदान किए। उन्होंने कहा कि इन सभी गाँव को नशा मुक्त बनाने में महिलाओं ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महिलायें जिस तरह अपनी भूमिका का निर्वहन करती है यदि पुरुष उसका दस प्रतिशत भी करने लगे तो समाज से हर बुराई ख़त्म हो जाये । उन्होंने कहा कि इस क्षैत्र में नशा के खात्मे के लिए पड़ोसी प्रांत राजस्थान व पंजाब की पुलिस का भी सहयोग लिया जाएगा।

एक सवाल के जबाव में किसी भी गाँव को जब नशा मुक्त घोषित किया जाता है तो उसके मापदण्ड क्या हैं के उत्तर में बताया कि उस गांव में किसी तरह  का नशा बेचा नहीं जाता है और उस गाँव के नशे की गिरफ़्त में आये सभी व्यक्ति नशे से दूर हो चुके है या अपना इलाज करवा रहे हैं । उन्होंने माना कि सिरसा, फतेहाबाद और डबवाली सीमावर्ती जिला होने के कारण नशे से सबसे अधिक प्रभावित हैं। यहाँ पर चिट्टा सहित दवाई का नशा भी काफ़ ी प्रचलन में है । नशे पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने एकीकृत योजना बना रखी है जिसमें विभिन्न विभागों के सहयोग से नशे पर अंकुश लगाने का प्रयास किया जा रहा है ।

कार्यक्रम के दौरान हिसार मंडल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव नें समस्त हिसार मंडल नें नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहीम के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि एक तरफ जहां  नशे तस्करों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा रही ही वही पूरे मंडल में जागरूक्ता अभियान चलाए जा रहे है। इस अवसर पर लोगों को नशे के खिलाफ जागरूक करने के लिए एक लघु नाटिका दिखाई गई । इस अवसर पर नशा छोडऩे वाले युवाओं एवं उनके परिजनो ने अपनी आपबीती सुनाते हुए नशा छोडऩे के अपने सफर के बारे में बताया और लोगों को बताया कि किस तरह नशा छोडऩे के उपरांत उनके व उनके परिवार की परिस्थितियां सुधरी है। डीजीपी ने इस मौके पर सिरसा पुलिस द्वारा जिला के नशा मुक्त किए  20 गांवो के सरपंचो को सम्मान पत्र दिए और समृति पट्ट  का अनावरण किया।

 

सिरसा में अधिकारियों की बैठक लेते हरियाणा के पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर।

सिरसा के पंचायत भवन में जिला के सभी मेडिकल स्टोर संचालकों व उनके प्रतिनिधियों की बैठक हुई। हरियाणा के पुलिस महानिदेशक शुत्रजीत कपूर ने अपने संबोधन में कहा कि कोई भी मेडीकल संचालक बगैर किसी चिकित्सक की पर्ची के दवा नही बेचे। उन्होंने कहा कि पुलिस के द्वारा नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम में मेडिकल स्टोर संचालक कंधे से कंधा मिला कर अपना  सहयोग कर नशा मुक्त समाज बनाने में अहम भूमिका निभाएं । ज़िला में अन्य नशे के साथ दवाओं का नशा भी काफ़ी प्रचलन में है। ऐसी स्थिति में नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम में मेडिकल स्टोर संचालकों का सहयोग कारगर साबित होगा। उन्होंने कहा कि नशा एक सामाजिक समस्या है,इसलिए इसे दूर करने में समाज के सभी लोग मिलकर कार्य करें ।

सिरसा के गांव नरेलखेड़ा के नशा मुक्त होने के पट का लोकार्पण करते हरियाणा के पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक सिरसा विक्रात भूषण, पुलिस अधीक्षक डबवाली सुमेर सिंह, पुलिस अधीक्षक फतेहाबाद आस्था मोदी, पुलिस अधीक्षक हिसार मोहित हांडा, पुलिस अधीक्षक हांसी मकसूद अहमद, पुलिस अधीक्षक जींद सुमित कुमार, एएसपी सिरसा दिप्ती गर्ग सहित पुलिस विभाग के अधिकारी व कर्मचारी, नशा मुक्त होने वाले 20 गांवों के सरपंच सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे ।
उधर,पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने स्थानीय पुलिस लाइन स्थित प्राशासनिक ब्लॉक के सभागार में हिसार मंडल के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि पुलिस अपना काम जितनी सरलता के साथ करेगी, उसकी कार्यप्रणाली उतनी ही कुशल होगी। इसलिए किसी भी अपराध में जब किसी अभियुक्त को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया की जा रही हो तो तहरीर में साक्ष्यों का आंकलन सही और सरल भाषा में किया जाए।

Online Dainik Bhaskar

Related Articles

Back to top button